Made in Russia | यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों के निर्यात ऋण एजेंसियों ने सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए Icon Link Arrow Ring icon-actions-list-item-1 icon-actions-list-item-2 icon-actions-list-item-3 icon-actions-list-item-4 icon-actions-list-item-5 icon-actions-list-item-6 icon-leaf icon-man icon-pin icon-shield icon-star Icon close Icon Chevron Left Icon Chevron Right Icon File Blank Icon Soc FB Icon Soc Ins Icon Soc Ok Icon Soc tw Icon Soc Vk youtube_2 Icon okay Icon Arrow Search Icon Chevron Down Icon search 1 1 icons_crop icons_crop 1 icons_crop 1 icons_crop 1 1 Icon Calendar icon-stick icon-thin-arrow-right Icon Burger Icon Enterprises Icon People Icon Stable Work Icon Burger Icon Chevron Left Icon Chevron Right Icon Slider Next Icon Slider Prev Icon Video Play attach Created with Sketch.

यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों के निर्यात ऋण एजेंसियों ने सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए

24 August 2017

24 अगस्त को, "यूरेशियन सप्ताह" सम्मेलन के पहले दिन के व्यावसायिक कार्यक्रम के ढाँचे के भीतर, मुख्य विस्तरित बैठक के दौरान जिसमें यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों के उप-प्रधान मंत्रियों ने भाग लिया रूस, कज़ाख़स्तान, बेलारूस और आर्मेनिया के राष्ट्रीय निर्यात ऋण एजेंसियों ने सहयोग संबंधी समझौते पर हस्ताक्षर किए।

निर्यात समर्थन यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों की अर्थव्यवस्थाओं के विकास की एक महत्त्वपूर्ण दिशा है। राष्ट्रीय स्तर पर, निर्यात गतिविधियों के विकास के लिए प्रोत्साहन देने की अनेक पहलकदमियाँ उठाई जा रही हैं। फिर भी विश्व मण्डी में प्रतिस्पर्धा को बनाए रखने के लिए, समर्थन के एकीकरण उपकरणों की आवश्यकता पड़ती है। निर्यात विकास के मुख्य संस्थाओं यानी कि यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों के निर्यात ऋण एजेंसियों के सहयोग से व्यापार के विकास और विदेशी साझेदारों की खोज के लिए और भी अधिक संभावनाएँ मिलती हैं।

इस समझौते का उद्देश्य एजेंसियों के बीच संसर्ग की नींव रखना तथा उन मूल मापदंडों और सिद्धांतों को दृढ़ करना है जिनपर आगे चलकर सहयोग बनाये रखा जाएगा। यूरेशियाई आर्थिक संघ के क्षेत्र में सहयोगी परियोजनाओं के संयुक्त समर्थन की संभावनाओं और योजनाओं को ध्यान में रखते हुए, सहयोग तंत्र पर संयुक्त कार्य के माध्यम से, संघ के स्तर पर निर्यातकों के समर्थन के लिए व्यवस्थित उपायों के विकास के लिए इस समझौते पर हस्ताक्षर करना एक नियमित और साथ ही एक महत्वपूर्ण कदम हो गया है।

इसके अलावा 24 अगस्त को, फोरम की रूपरेखा के अनुरूप, यूइस (एकीकृत ऊर्जा प्रणाली) देशों के ईसीए प्रमुखों की एक बैठक, निकिता गुसाकोवा, क्लाइंट के काम के लिए प्रबंध निदेशक और जेएससी एक्सर्स की अंडरराइटर ( रूसी संघ), गेंनाडी मित्सेविच, ब्रितिस "बेलएक्सिमगरेंट" (बेलारूस गणराज्य) के महानिदेशक; रुस्लान इस्काकोव, जेएससी "ईएससी" कज़ाख एक्सपोर्ट "के अध्यक्ष, होल्डिंग" बेएटेरेक "(कजाखस्तान गणराज्य) के राष्ट्रीय प्रबंधक के सहायक, और अरमेन शाहनराजियन एसजेएओ निदेशालय के कार्यकारी निदेशक और अध्यक्ष" एक्सप अर्मेनियाई बीमा एजेंसी "(आर्मेनिया गणराज्य) के साथ हुई थी। इसके अलावा, प्रेसिडियम में ईल्डार अबकीरोव, किर्गिज गणराज्य के अर्थव्यवस्था के उप मंत्री, व्यापार के लिए ट्रेड बोर्ड (मंत्री) की सदस्य वोरोनिका निकिशिना, और आर्थिक और वित्तीय नीति के लिए बोर्ड (मंत्री) के सदस्य तैमूर झ्क्स्कीलेकोव भी शामिल थे। ईसीए प्रतिनिधियों ने संघीय क्षेत्र में राज्य के निर्यात समर्थन की व्यवस्था में एजेंसियों की भूमिका और युइस (एकीकृत ऊर्जा प्रणाली) के सदस्य देशों की निर्यात क्षमता को मजबूत करने के अन्य सामयिक मुद्दों पर चर्चा की जिसमें तीसरे विश्व के देशों के बाहरी बाज़ार भी शामिल हैं। वहीँ, पार्टियों ने सहकारिता ज्ञापन के आधार पर सहयोग और विकास की संभावनाओं को भी बताया, जिसमें युइस (एकीकृत ऊर्जा प्रणाली) के ईसीए देशों के बीच सहयोग के लिए एक अलग प्लेटफार्म बनाने पर संयुक्त कार्य की योजना शामिल थी। मंच की रूपरेखा के अनुसार, ईसीए विभिन्न स्तरों पर बैठकों के माध्यम से सूचना और अनुभव के नियमित आदान-प्रदान के साथ-साथ संघ के सभी देशों की सप्लायर कंपनियों से जुड़ी सहकारी परियोजनाओं के लिए सामान्य समर्थन प्रदान करने के लिए भी तंत्र विकसित करना चाहता है।

इसके अलावा 24 अगस्त को, फोरम की रूपरेखा के अनुरूप, यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों के निर्यात ऋण एजेंसियों के प्रमुखों की एक बैठक, निकिता गुसाकोव, एक्सार के क्लाइंट के काम के लिए और अंडरराइटर प्रबंध निदेशक निकिता गुसाकोव (रूस), गेंनादी मित्सेविच, "बेलएक्सिमगरेंट" (बेलारूस) के महानिदेशक; रुस्लान इस्काकोव, जेएससी "ईएससी" कज़ाख एक्सपोर्ट के अध्यक्ष, होल्डिंग" बेएटेरेक (कजाखस्तान) के राष्ट्रीय प्रबंधक के सहायक, और अरमेन शाहनराजियन एसजेएओ निदेशालय के कार्यकारी निदेशक और अध्यक्ष एक्सप अर्मेनियाई बीमा एजेंसी (आर्मेनिया) के साथ हुई थी। इसके अलावा, प्रेसिडियम में ईल्डार अबकीरोव, किर्गिज गणराज्य के अर्थव्यवस्था के उप मंत्री, व्यापार के लिए ट्रेड बोर्ड (मंत्री) की सदस्य विरोनिका निकिशिना, और आर्थिक और वित्तीय नीति के लिए बोर्ड (मंत्री) के सदस्य तैमूर झक्सिलिकोव भी शामिल थे।

निर्यात ऋण एजेंसियों के प्रतिनिधियों ने संघीय क्षेत्र में राज्य के निर्यात समर्थन की व्यवस्था में एजेंसियों की भूमिका और यूरेशियाई आर्थिक संघ के सदस्य देशों की निर्यात क्षमता को मजबूत करने के अन्य सामयिक मुद्दों पर चर्चा की जिसमें तीसरे विश्व के देशों के बाहरी बाज़ार भी शामिल हैं। वहीँ, पार्टियों ने सहकारिता ज्ञापन के आधार पर सहयोग और विकास की संभावनाओं को भी बताया, जिसमें युइस यूरेशियाई आर्थिक संघ के निर्यात ऋण एजेंसियों के बीच सहयोग के लिए एक अलग प्लेटफार्म बनाने पर संयुक्त कार्य की योजना शामिल थी। मंच की रूपरेखा के अनुसार, निर्यात ऋण एजेंसियाँ विभिन्न स्तरों पर बैठकों के माध्यम से सूचना और अनुभव के नियमित आदान-प्रदान के साथ-साथ संघ के सभी देशों की सप्लायर कंपनियों से जुड़ी सहकारी परियोजनाओं के लिए सामान्य समर्थन प्रदान करने के लिए भी तंत्र विकसित करना चाहती हैं।

फोरम "यूरेशियन वीक" में एजेंसियों की भागीदारी पर यूरेशियाई आर्थिक संघ देशों के ऋण एजेंसियों के प्रमुखों द्वारा टिप्पणी की गई है।

"यूरेशियाई आर्थिक संघ देशों के निर्यात ऋण एजेंसियों के बीच सहयोग का विकास, संघ में मौजूदा एकीकरण प्रक्रियाओं का एक अभिन्न अंग है। एक नए चरण में हम संयुक्त तथा सहकारी परियोजनाओं को बढ़ावा देने के लिए, राष्ट्रीय और यूनियन स्तर पर, क्रेडिट और बीमा समर्थन के मौजूदा साधनों के विस्तार के लिए मिलकर काम करने का इरादा रखते हैं।"

एलेक्सी तुपानोव
एक्सार के महानिदेशक
"यूरेशियाई आर्थिक संघ के देशों के निर्यात का समर्थन करने वाले वित्तीय संस्थानों के संयुक्त प्रयासों को एकजुट और संघटित करने के लिए फोरम "यूरेशियन वीक" सबसे महत्वपूर्ण एकीकरण और सहयोग मंच है, जिससे विश्व के देशों में राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं की भूमिका को मजबूत किया जा सकता है।"

गेन्नादीय मित्केविच
"बेक्ज़ेमिगरेंट" के महानिदेशक

"आज के सहकारिता ज्ञापन पर हस्ताक्षर, निर्यात गतिविधियों के विकास सहित, यूरेशियाई आर्थिक संघ के सदस्य देशों के आर्थिक विकास के कई क्षेत्रों में एकीकृत नीति का समन्वय करने हेतु, बड़े पैमाने पर कार्य करने के लिए एक व्यवस्थित और तार्किक कदम है। सदस्य देशों की राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं की क्षमता का तालमेल, कानून की एकरूपता, पारस्परिक रूप से लाभकारी और समान स्थितियों का निर्माण - यह सब हमारे राज्यों के आर्थिक आधार को मजबूत करने में मदद करेगा, यह हमारे सामान और सेवाओं की आवाजाही के महत्वपूर्ण लाभों को प्रभावी ढंग से समझता है, और लगातार और व्यवस्थित रूप से उन बाधाओं को दूर करता है जो माल और सेवाओं के लिए राष्ट्रीय बाजारों तक व्यवसायों के पारस्परिक पहुंच की स्वतंत्रता को प्रतिबंधित करती हैं"।

रुस्लान इस्काकोव
जेएससी "ईएससी" कज़ाकएक्सपोर्ट बोर्ड के अध्यक्ष
"यूरेशियाई आर्थिक संघ के सदस्य राज्यों की निर्यात क्षमता को प्रोत्साहन, विकास और सुदृढ़ीकरण, निस्संदेह स्थायी आर्थिक विकास के लिए अनिवार्य कारक बन जाएंगे, और निर्यात के विस्तार से यूरेशियाई आर्थिक संघ के सदस्यों की अर्थव्यवस्थाओं के ढांचे में विविधता लाने में मदद मिलेगी। ज्ञापन पर हस्ताक्षर करके, पार्टियों ने यूरेशियाई आर्थिक संघ के सदस्य देशों और संपूर्ण संघ में, आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और निर्यात को प्रोत्साहित करने की अपनी इच्छा व्यक्त की है।"

अर्मेन शाहनाजारयान
निदेशालय के कार्यकारी निदेशक और अध्यक्ष
सीजेएससी "आर्मेनिया की निर्यात बीमा एजेंसी"

समाचार

सभी समाचार देखें
Select Subscription